Latest Internet & Andriod ki jankari Hindi Me

19 Feb 2017

Shiv Khera Ki Kahani In Hindi (Gubbare Wala ) - Yadav4You

Hallo फ्रेंड्स Yadav4You में आपका स्वागत हैं आज हम आपको इस आर्टिकल में शिव खेड़ा स्टोरीज के बारे में बताने जा रहे हैं। जैसे की हम सबको दे की आप पहले भी इस शिव खेड़ा स्टोरीज का कहानी कही भी सुना ही होगा, लेकिन आज हम आपको पूरा clearly रूप से बताने जा रहे हैं। जिससे की आपको किसी भी तरह से Confusion नही हो तो आइए हम आपको बता दे की ये Inspiration Shiv Khera ki Kahani in hindi Gubbare wale उनके प्रसिद्ध लोकप्रिय पुस्तक (Book) जीत आपकी से लिया गया हैं।. शिव खेड़ा अमेरिका में qualified Learning System एन्को USA के संस्थापक हैं, एक लेखक, बिज़नस, सलाहकार, प्रेरक, प्रवक्ता और एक सफल उधमी हैं।

ये लोगो को उनकी सच्ची क्षमता का एहशस् करने में प्रेरित और सूचित करते हैं आपको, अपने असरदार संदेस दुनिया के दूसरे और America से Singapore तक ले जा चुके, उनकी 32 साल की (Research) सोच-समझ और तजुर्बे ने लाखो लोगो को खुद्द पर बिस्वास और खुशहाली के रास्ता पर बढ़ने में मदद की हैं।,

हम आपको ये भी बता दे की ये हिंदी कहानी (shiv khera ki kahani) ऐसे लोगो के लिए नही हैं जो की आलसी के चलते आपना सुब इरादा नाकाम कर दे और जरा भी आगे बढ़ने की कोशिश नही करे, हम आपको सीधी सी बात कहते हैं की ये आप इस शिव खेर की कहानी को पढ़ रहे हैं, कहानी को पढ़ रहे हैं तो आप जरुर आपने जिन्दगी को new जिन्दगी की सुरुआत कर रहे हैं और बहुत ही बेहतर खुशहाल बनाने जा रहे हैं.

Shiv Khera की प्रेरणादायीं कहानी :- 



तो आइये अब हम आपको शिव खेर की कहानी बताने जा रहे हैं एक आदमी मेले में गुब्बारा बेच कर अपना गुजर बसर करता था उसके पास बहुत तरह के गुब्बारे थे लाल, पिला, हरा, नीला, जब भी उनका बिक्री कम होता था तो वह हीलियम गैस से भर के गुब्बारा को चोर देते थे. चोर हुआ गुब्बारा को बच्चे देखते थे तो गुब्बारा को खरीदने के लिए जाते थे, और फिर उनका बिक्री बढ़ जाता था जब भी बिक्री कम होती थी तो वह यही ट्रिक अपनाते थे

एक दिन गुब्बारा वाले को महसूस हुआ की कोई उनके कपर को खीच रहा हैं उसने जब देखा तो एक बच्चा नजर आया, फिर बच्चे ने पूछा अगर आप हवा में किसी काले गुब्बारे को चोर्ते हैं तो वो भी उरेगा? बच्चे के इस सवाल ने गुब्बारा वाला का मन छु लिया, बच्चे की और घूम कर जवाब दिया और बोला की बेटे गुब्बारा के रंग से नही बल्कि अंदर भरी चीज की वजह से उरता हैं.

दोस्तों हमारी जिन्दगी में भी यही वसूल लागु होते हैं

Concussion :- I Hope Friends कैसा लगा आपको मेरा ये shiv खेरा की कहानी कमेंट कर के बताएं, साथ में किसी भी तरह के प्रॉब्लम हो तो आप कमेंट करें, हमको हम जरूर बताएंगे

0 comments:

Post a Comment

Priya

About

I Am priya Jaiswal Yadav4You.Com Ke Owner Yaha par aapko Internet Se Related Latest Jankari Daily Update kiya jata hai, Esiliye Hmare Website Par visit Karte rhe aur Latest jankari jante rhe.